Cryptocurrency क्या है, भारत में क्रिप्टोकरंसी कैसे खरीदें, यह कैसे काम करती है? यहां देखें पूरी कुंडली


Cryptocurrency kya hai, Cryptocurrency in India legal, क्रिप्टो करेंसी क्या है, यह कैसे काम करती है, इसे भारत में कैसे खरीदें, क्या यह भारत में लीगल है पूरी जानकारी पढ़ें।

वर्तमान समय में लोग ऑनलाइन बिजनेस को ज्यादा अपना रहे हैं, भारत में जब से इंटरनेट सस्ता हुआ है लोग ऑनलाइन नई-नई चीज खोज रहे हैं, जिसमें से काफी लोगों के लिए क्रिप्टो करेंसी अभी बिल्कुल नई है और ऐसे में यदि आपको नहीं पता क्रिप्टो करेंसी क्या है, यह कैसे काम करती है और इसे भारत में कैसे खरीदा जाए, तो आज के इस लेख में हम आपको संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं।

हम आपको विश्वास दिलाते हैं, इस लेख को पढ़ने के बाद क्रिप्टो करेंसी से संबंधित आपके मन में उठ रहे सभी सवालों के जवाब आपको मिल जाएंगे, इसलिए इस लेख को पूरा अवश्य पढ़ाना चाहिए।

Cryptocurrency क्या है, भारत में क्रिप्टोकरंसी कैसे खरीदें

Cryptocurrency की शुरुआत कैसे हुई?

क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत वर्ष 2009 के अंदर हुई थी सर्वप्रथम वर्ष 2009 में बिटकॉइन का निर्माण हुआ था, और इसके कुछ सालों बाद कुछ नए क्रिप्टो कॉइंस का निर्माण किया गया और इन सभी कोइंस को मिलाकर क्रिप्टो करेंसी शब्द का निर्माण हुआ।

और जनवरी 2009 में संतोषी नाकामोतो नामक व्यक्ति ने क्रिप्टो करेंसी यानी कि बिटकॉइन को सभी के सामने उजागर किया था, किंतु सतोशी नाकामोतो कौन है इस बात का पता आज तक नहीं चला है, लेकिन बिटकॉइन का जन्मदाता सतोशी नाकामोतो को ही कहा जाता है। 

क्रिप्टो करेंसी क्या है? (Cryptocurrency kya hai)

क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल मुद्रा है, जिसे वर्चुअल मुद्रा के नाम से भी जाना जाता है, क्रिप्टो करेंसी – क्रिप्टोग्राफी टेक्नोलॉजी के ऊपर काम करती है, और क्रिप्टोग्राफी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके क्रिप्टो करेंसी का लेनदेन किया जाता है, क्रिप्टोकरेंसी के ऊपर किसी भी केंद्रीय एजेंसी या किसी भी देश की सरकार का नियंत्रण नहीं है।

और ना हीं इसके ऊपर किसी व्यक्ति का कोई अधिकार है, यह एक तरह की ऐसी करेंसी है जिसे देखा या छुआ नहीं जा सकता, क्रिप्टो करेंसी ऑनलाइन इस्तेमाल की जा सकती है, अर्थात इसका लेनदेन सिर्फ ऑनलाइन ही किया जा सकता है।

अब अगर बात की जाए, डिजिटल या वर्चुअल मुद्रा क्या है, तो इसके बारे में आपको यहा काफी अच्छे से समझाया गया है।


डिजिटल या वर्चुअल मुद्रा क्या होती है?

डिजिटल या वर्चुअल मुद्रा एक ऑनलाइन मुद्रा होती है, जिसे देखा या छुआ नहीं जा सकता है, यह एक भौतिक मुद्रा अर्थात जैसे कि सिक्के, नोट, पैसे, रुपए या डॉलर के समान नहीं होती है, क्योंकि डिजिटल या वर्चुअल मुद्रा को इस्तेमाल करने के लिए इंटरनेट का सहारा लिया जाता है।

डिजिटल मुद्रा को इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन एक जगह से दूसरी जगह भेजना और प्राप्त करना बहुत आसान है, डिजिटल मुद्रा को ऑनलाइन वॉलेट में स्टोर किया जाता है, जिसे ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से कुछ ही सेकंड में एक जगह से दूसरी जगह ट्रांसफर किया जा सकता है, 

डिजिटल मुद्रा को किसी भी देश की करेंसी में बदला जा सकता है, इसे बदलने के लिए कुछ ऐसे ऑनलाइन एक्सचेंज बने हुए हैं, जो डिजिटल मुद्रा को खरीद कर आपको भौतिक मुद्रा प्रदान करते हैं, जैसे कि आप अगर भारत से हैं तो आपको आपका पैसा भारतीय रुपए में आपके बैंक खाते में प्राप्त होगा और यदि आप एक अमेरिकन नागरिक हैं, तो आपको अपना पैसा डॉलर के रूप में आपके बैंक खाते में प्राप्त होगा।

हम आशा करते हैं आपको समझ आ गया होगा क्रिप्टो करेंसी किसे कहते हैं और वर्चुअल या डिजिटल मुद्रा क्या होती है, अब आगे हम जानेंगे क्रिप्टो करेंसी को कैसे खरीदें या कहां से खरीदा जा सकता है तथा यह कैसे काम करती है।

क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करती है?

जिस प्रकार वर्तमान समय में हम अपने मोबाइल में यूपीआई तकनीक की मदद से Phone pay, Paytm और Google pay जैसी apps के माध्यम से कुछ क्लिक में ही पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं, उसी प्रकार क्रिप्टोकरंसी को कुछ ही सेकंड में एक देश से दूसरे देश, या एक जगह से दूसरी जगह ट्रांसफर किया जा सकता हैं, और यह पैसे ट्रांसफर करने से भी ज्यादा तेज तकनीक है।

क्योंकि क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल भुगतान प्रणाली के ऊपर काम करती है, क्रिप्टो करेंसी में लेनदेन किसी बैंक द्वारा नहीं होती है, बल्कि क्रिप्टो करेंसी का लेनदेन पीयर-टू-पीयर होता है, अर्थात एक व्यक्ति अपनी क्रिप्टो करेंसी को सीधे दूसरे व्यक्ति को भुगतान कर सकता है। अतः क्रिप्टो करेंसी का भुगतान कभी भी और किसी भी समय किया जा सकता है तथा इसे एक देश से दूसरे देश में भी आसानी से भेजा जा सकता है।

यहां पर हमने आपको क्रिप्टो करेंसी के कार्य करने के तरीके को काफी अच्छे से समझाया है:

ब्लॉकचेन तकनीक: क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचेन तकनीक के ऊपर काम करती है, और ब्लाकचैन एक सुरक्षित और पारदर्शी लेजर तकनीक है, जो क्रिप्टो करेंसी के लेनदेन को पारदर्शी तरीके से रिकॉर्ड में रखने के लिए लेजर तकनीक का उपयोग करती है, और इस ब्लॉकचेन तकनीक के कारण ही क्रिप्टो करेंसी को एक जगह से दूसरी जगह ट्रांसफर करना बहुत ही आसान होता है, जिसमें समय की काफी ज्यादा बचत होती है।

क्रिप्टोग्राफी: क्रिप्टो करेंसी की लेनदेन में क्रिप्टोग्राफी की मुख्य भूमिका है, क्योंकि क्रिप्टोग्राफी तकनीक सुरक्षित लेनदेन सुनिश्चित करती है, और क्रिप्टोकरेंसी में क्रिप्टोग्राफी तकनीक का इस्तेमाल करके क्रिप्टो करेंसी के सभी ट्रांजैक्शन को सुरक्षित किया जाता है।

क्रिप्टो करेंसी वॉलेट: क्रिप्टो करेंसी को अपने पास नहीं रखा जा सकता है, इसे रखने के लिए ऑनलाइन वॉलेट की आवश्यकता होती है, ऑनलाइन इंटरनेट पर हमें ऐसे कई एक्सचेंज और वॉलेट मिल जाते हैं, जो हमें सुरक्षित अपने क्रिप्टोकरंसी को स्टोर करने की सुविधा प्रदान करती है।

हम आशा करते हैं, आपको समझ आ गया होगा क्रिप्टो करेंसी कैसे काम करती है।

क्रिप्टो करेंसी को कैसे खरीदें?

क्रिप्टो करेंसी को खरीदने के लिए आपके बैंक खाते में ऑनलाइन सुविधा होनी चाहिए, यदि आपके पास एक बैंक खाता है और उसमें ऑनलाइन बैंकिंग सुविधा नहीं है, तो आपको सबसे पहले अपने बैंक मैनेजर से बात करके अपनी ऑनलाइन बैंकिंग को शुरू करना होगा।

अब यदि आपके पास एक ऑनलाइन बैंकिंग सुविधा वाला बैंक खाता है, तो उसके बाद आपके पास एक वेरीफाई क्रिप्टो एक्सचेंज या क्रिप्टो वॉलेट का खाता होना भी आवश्यक है, और इसके लिए यदि आप एक भारतीय हैं, तो आप इन निम्नलिखित क्रिप्टो एक्सचेंज में अपना खाता खोल सकते हैं।

  • Wazirx
  • Zebpay

भारत में Wazirx और Zebpay क्रिप्टो वॉलेट में आप अपना खाता खुलवा सकते हैं और अपने आधार कार्ड और पैन कार्ड को लगाकर यहां अपना अकाउंट वेरीफाई कर सकते हैं, जैसे ही यहां आपका खाता वेरीफाई हो जाता है, तो उसके बाद आप अपने बैंक खाते से इन क्रिप्टो वॉलेट में पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं और फिर अपने भारतीय रुपए से क्रिप्टोकरंसी खरीद सकते हैं।

क्रिप्टो करेंसी का लेनदेन कैसे होता है?

जैसा कि अभी हमने आपको बताया क्रिप्टो करेंसी को स्टोर करने के लिए क्रिप्टो वॉलेट की जरूरत पड़ती है और ऊपर हमने आपको बताया है आप किस तरह से क्रिप्टो वॉलेट बना सकते हैं, पर यदि बात की जाए क्रिप्टोकरंसी का लेनदेन कैसे होता है तो हम आपको बता दें।

क्रिप्टो करेंसी का लेनदेन करने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज या क्रिप्टो वॉलेट की आवश्यकता पड़ती है, और सब हमारे वॉलेट में क्रिप्टो करेंसी होती है तो हम उसे किसी और को भेजने के लिए, हमें उसके क्रिप्टो कॉइन वॉलेट का एड्रेस चाहिए होता है, जो की एक डिजिटल 20 अंकों का या इससे अधिक संख्या का एक यूनिक नंबर होता है, जिसमें अंग्रेजी और गणित की अक्षर होते हैं।

इसके बाद क्रिप्टो करेंसी का ट्रांजैक्शन करने के लिए हमें अपने वॉलेट में उस व्यक्ति के क्रिप्टोकरंसी वॉलेट का एड्रेस डालना होता है, और एड्रेस डालने के बाद हम अपनी क्रिप्टो कॉइन की संख्या को अंकित करके अपने क्रिप्टो कॉइन को दूसरे व्यक्ति के पास सेंड कर सकते हैं।

क्रिप्टो करेंसी के फायदे और नुकसान क्या है?

क्रिप्टो करेंसी के जहां हमें कुछ फायदे देखने को मिलते हैं, वहीं दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं और यहां हमने इसके नुकसान और फायदे दोनों के बारे में आपको बताया है।

क्रिप्टो करेंसी के क्या फायदे हैं?

  • क्रिप्टो करेंसी का जो भी लेनदेन होता है, वह क्रिप्टोग्राफी तकनीक द्वारा होता है, जो की एक सुरक्षित लेनदेन प्रक्रिया है।
  • क्रिप्टो करेंसी को काफी कम समय में एक देश से दूसरे देश भेजा जा सकता है।
  • क्रिप्टो करेंसी की ट्रांजैक्शन में लगने वाली फीस बहुत कम होती है।
  • यह एक सुरक्षित और स्वतंत्र डिजिटल करेंसी है।
  • क्रिप्टो करेंसी के ऊपर किसी भी देश की सरकार या किसी व्यक्ति का कोई अधिकार नहीं है।
  • क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से किया गया अंतर्राष्ट्रीय ट्रांजैक्शन कुछ ही मिनट में और कम लागत के साथ सफल होता है।
  • क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग के माध्यम से पैसा कमाया जा सकता है।
  • क्रिप्टो करेंसी को माइनिंग प्रक्रिया के जरिए कमाया जा सकता है।

क्रिप्टो करेंसी के क्या नुकसान है?

  • क्रिप्टो करेंसी किसी भी देश की सरकार द्वारा नियंत्रित नहीं की जाती है।
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टो करेंसी के अंदर काफी ज्यादा उतार चढ़ाव देखने को मिलता है।
  • कई देशों में क्रिप्टोकरंसी के ऊपर बैन लगाया गया है।
  • कई देशों में क्रिप्टो करेंसी की ट्रेडिंग करना गैर कानूनी और इन लीगल बताया गया है। 
  • क्रिप्टो करेंसी वॉलेट को हैक या चोरी भी किया जा सकता है।

क्या क्रिप्टो करेंसी को खरीदना और बेचना लीगल है?

क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल मुद्रा है जो किसी भी देश या किसी भी व्यक्ति द्वारा संचालित नहीं की जाती है, क्रिप्टोकरंसी पर किसी का अधिकार नहीं है, ऐसे में कई देशों ने क्रिप्टो करेंसी की ट्रेडिंग पर बैन लगाया हुआ है, किंतु दूसरी ओर कुछ देशों ने क्रिप्टोकरंसी को लीगल बताया है और इसे अपनाया भी है।

और यदि भारत की बात की जाए तो, भारत में क्रिप्टो ट्रेडिंग को गैर कानूनी बताया गया है, हालांकि भारतीय सरकार द्वारा इसकी ट्रेडिंग को फिलहाल रोका नहीं गया है, किंतु आए दिन क्रिप्टो ट्रेडिंग से संबंधित खबरें हमें पढ़ने को मिलती रहती है।

क्रिप्टो करेंसी से पैसे कैसे कमाए?

क्रिप्टो करेंसी से पैसे कमाने के लिए आपको क्रिप्टो करेंसी की पूरी जानकारी होनी आवश्यक है, साथ ही आपको टेक्निकल और फंडामेंटल एनालिसिस आनी चाहिए, और यदि आपको क्रिप्टो करेंसी के बारे में जानकारी है, तो ऐसे में आप नीचे बताए गए निम्नलिखित तरीकों से क्रिप्टोकरंसी से पैसे कमा सकते हैं:

  • क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज के ऊपर ट्रेडिंग करके पैसे कमाए जा सकते हैं।
  • क्रिप्टो करेंसी में लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्टमेंट करके पैसे कमाए जा सकते हैं।
  • क्रिप्टो करेंसी की माइनिंग करके पैसे कमाए जा सकते हैं।
  • बाजार में नई लिस्ट क्रिप्टो करेंसी के एयरड्रॉप्स और बाउंटीज ज्वाइन करके भी पैसे कमाए जा सकते हैं।
  • क्रिप्टोकरंसी के ऊपर वेबसाइट बनाकर भी पैसे कमाए जा सकते हैं।
  • क्रिप्टो करेंसी के ऊपर ब्लॉग लिखकर भी पैसे कमाए जा सकते हैं।
  • क्रिप्टो करेंसी से संबंधित यूट्यूब चैनल बनाकर भी पैसे कमाए जा सकते हैं।

People also ask: क्रिप्टो करेंसी से संबंधित प्रश्न

प्रश्न: क्रिप्टो करेंसी को हिंदी में क्या कहते हैं?

उत्तर: क्रिप्टो करेंसी को हिंदी भाषा में “छुपा हुआ पैसा” और क्रिप्टो कॉइन कहा जाता है।

प्रश्न: बिटकॉइन का आविष्कारक कौन है?

उत्तर: बिटकॉइन का आविष्कार वर्ष 2009 में “सतोशी नाकामोतो” नामक एक व्यक्ति ने किया था।

प्रश्न: बिटकॉइन किस देश की करेंसी है?

उत्तर: बिटकॉइन एक स्वतंत्र डिजिटल मुद्रा है, जिस पर किसी व्यक्ति या किसी देश की सरकार का कोई अधिकार नहीं है।

प्रश्न: भारत की कौन सी क्रिप्टो करेंसी है?

उत्तर: भारत मे किसी भी क्रिप्टो करेंसी का निर्माण नहीं किया गया है, अर्थात भारत की कोई भी क्रिप्टोकरंसी नहीं है।

प्रश्न: एक क्रिप्टो कॉइन की कीमत कितनी है?

उत्तर: जनवरी 2024 में, बिटकॉइन की कीमत भारतीय रुपए में 38,06,736 रुपए है।

google News

नमस्कार दोस्तों ! मेरा नाम Lakhan Panchal है और मैं इस Blog का Founder हूं, harsawal.com वेबसाइट पर आप mobile review, apps review, mobile games, earn money, apps download, Youtube, Meaning, Cricket, GK, Cryptocurrency, Share Market, Loan, social media से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Comment