मोबाइल का आविष्कार कब और किसने किया ?


आज के इस पोस्ट में हम आपको Mobile ki khoj kisne ki the, सबसे पहले मोबाइल किसने बनाया या मोबाइल का आविष्कार किसने किया के बारे में विस्तार पूर्वक mobile ki jankari प्रदान करेंगे, वर्तमान समय में हमारी जनरेशन की सबसे ज्यादा रुचि स्मार्टफोन में ही है, आज के दौर में बिना मोबाइल के जीना असंभव है।

मोबाइल ने हमारी हर जरूरतों को पूरा किया है, किसी दूर बैठे व्यक्ति से संपर्क करना हो या किसी भी चीज की जानकारी प्राप्त करना हो। वैज्ञानिकों द्वारा की गई सभी अविष्कारों में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली चीज mobile ka avishkar है।

शुरुआती वक्त में जब मोबाइल का आविष्कार किया गया तब उस दौरान मोबाइल का इस्तेमाल सिर्फ बात करने या संदेश भेजने के लिए किया जाता था। लेकिन समय के साथ टेक्नोलॉजी आगे बढ़ती गई और मोबाइल का इस्तेमाल गाना सुनने, फोटो खींचने, गेम खेलने आदि कामों के लिए भी किया जाने लगा।

सबसे पहले मोबाइल किसने बनाया

वर्तमान समय में हम स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं जिसमें हजारों फीचर्स उपलब्ध है, और मोबाइल टेक्नोलॉजी को इतनी ऊंचाइयों तक पहुंचाने का सारा श्रेय सभी वैज्ञानिक इंजीनियर और विद्वानों को जाता है।

सबसे पहले “एलेग्जेंडर ग्राहम बेल” ने टेलीफोन का आविष्कार किया था, और फिर उनके बाद कई वैज्ञानिकों ने टेलीफोन को छोटा और स्मार्ट बनाने की कोशिश की।

Telephone ka avishkar करने के बाद इसे और ज्यादा आधुनिक एवं पोर्टेबल बनाने की कोशिश करी जा रही थी, बहुत से वैज्ञानिकों और कंपनी ने इस पर काम किया लेकिन सबसे पहले जीत मोटरोला कंपनी के इंजीनियर मार्टिन कपूर को मिली।

दुनिया में सबसे पहले मोबाइल का आविष्कार “मार्टिन कूपर” ने किया था, इन्होंने वर्ष 1970 में मोटरोला कंपनी को ज्वाइन किया था। इनकी रूचि टेलीकॉम कंपनी में काफी ज्यादा थी, इसी रुचि के साथ टेलीकॉम इंडस्ट्री में काम करते वक्त इन्होंने सबसे पहले वर्ष 1973 में मोबाइल बनाया था।

मार्टिन कूपर
मार्टिन कूपर

इस मोबाइल का नाम Motorola DynaTAC रखा गया था और इसका वजन 1.1 किलोग्राम था और इस मोबाइल को फुल चार्ज होने में कुल 10 घंटे लगते थे इस फोन में आप 30 लोगों का कांटेक्ट सेव कर सकते थे। दुनिया के सबसे पहले फोन की कीमत करीब ₹200000 थी।


हालांकि इस फोन में कुछ कमियां थी जिन्हें पूरा करने में लगभग एक दशक लग गया और फोन की लागत भी काफी ज्यादा थी जिसे कम करने के लिए इस पर काम किया गया और तब वर्ष 1983 में इस फोन को मार्केट में लॉन्च किया गया।

भारत में मोबाइल कब लॉन्च किया गया

दोस्तों देखा जाए तो आज के समय में पूरा विश्व mobile ki duniya बन गया है क्योंकि आज हमारे विश्व में कोई भी ऐसा देश नहीं है, जहां मोबाइल का इस्तेमाल ना किया जाता हो, ऐसे में भारत भी मोबाइल को अपनाने में पीछे नहीं रहा है,

जैसा कि अभी हमने आपको बताया दुनिया में सबसे पहले मोबाइल वर्ष 1983 को लांच किया गया था जो कि सिर्फ अमेरिका देश के बाजार में ही उपलब्ध था।

परंतु यदि भारत की बात की जाए तो भारत में मोबाइल की शुरुआत वर्ष 1995 में हो गई थी, भारत में मोबाइल का इस्तेमाल करके वर्ष 1995 में हमारे भारत के दूरसंचार मंत्री श्री सुखराम जी ने 31 जुलाई 1995 में बंगाल के मुख्यमंत्री श्री ज्योति बसु जी से वार्तालाप किया था।

People also ask: आपके पूछे गए सवाल

Q1: मोबाइल को हिंदी में क्या कहते हैं?

Ans: मोबाइल को हिंदी में चलंत दूरभाष यंत्र कहते है।

Q3: टच स्क्रीन मोबाइल का आविष्कार किसने किया?

Ans: आईबीएम और बेलसेल्फ कंपनी द्वारा टच स्क्रीन मोबाइल का आविष्कार किया गया।

Q4: सबसे पहले मोबाइल का आविष्कार किसने किया?

Ans: मार्टिन कपूर

Q5: मोबाइल का आविष्कार कब हुआ?

Ans: मोबाइल का आविष्कार 3 अप्रैल 1973 को किया गया था।

Q6: मोबाइल का जन्मदिन कब है?

Ans: वैसे तो मोबाइल का जन्मदिन कभी नहीं मनाया जाता है पर अगर आप मोबाइल का जन्मदिन मनाना चाहते हैं तो आपको मोबाइल का जन्मदिन हर साल 3 अप्रैल को बनाना चाहिए, क्योंकि मोबाइल का आविष्कार 3 अप्रैल 1973 को हुआ था।

google News

नमस्कार दोस्तों ! मेरा नाम Lakhan Panchal है और मैं इस Blog का Founder हूं, harsawal.com वेबसाइट पर आप mobile review, apps review, mobile games, earn money, apps download, Youtube, Meaning, Cricket, GK, Cryptocurrency, Share Market, Loan, social media से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Comment