Shiv Mantra List in Hindi: सभी शिव प्रार्थना मंत्र की सूची हिंदी में


All shiv mantra list in hindi, mantra hindi arth, mantra उपयोग, शिव मंत्र सूची, शिव मंत्रों की सूची हिंदी में, शिव जी का मंत्र कौन सा है?

जय महाकाल, हर हर महादेव! महादेव के सभी भक्तों को हमारा नमस्कार, भगवान शिव (Lord Shiva) जिन्हें पूरे विश्व में अनेकों नामों से जाना जाता है, और आज पूरे विश्व में भगवान शिव के भक्तों की संख्या अनगिनत है।

अतः भगवान शिव के भक्तों में से हम भी एक हैं, और यदि आप भी भगवान शिव के भक्त हैं तो आपके लिए आज का यह लेख अति महत्वपूर्ण होगा, क्योंकि आज के इस लेख में “All shiv mantra list in hindi, mantra hindi arth, mantra उपयोग, शिव मंत्रों की सूची हिंदी में” साझा कर रहे हैं।

भगवान शिव के मंत्रों का जप हिंदू धर्म में कृपा प्राप्ति का अचूक उपाय माना जाता है, मंत्रों का जप करने से हमारे सभी दुख-दर्द और दुर्भाग्य दूर हो जाते है और सुख-संपत्ति और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। 

और इस लेख में हम आपको भगवान शिव से जुड़े “पंचाक्षरी” से लेकर “महामृत्युंजय” (Mahamritunjay Mantra) मंत्र आदि के बारे में विस्तार से बताएंगे, जिन का जाप करने से आपके जीवन में चमत्कारिक बदलाव आता है और साधक की बड़ी से बड़ी मनोकामना शीघ्र ही पूरी होती है।

तो चलिए ज्यादा समय ना बिताते हुए सीधे हम भगवान शिव के मंत्रों की तरफ बढ़ते हैं।

Shiv Mantra List in Hindi: सभी शिव प्रार्थना मंत्र की सूची हिंदी में

15 शिव प्रार्थना मंत्र (Shiv Mantra List)

यहां हमने सभी शिव भक्तों के लिए भगवान शिव के 15 शिव प्रार्थना मंत्र की सूची बताई है, इन मंत्रों का जाप आप भगवान शिव की प्रार्थना करते समय कर सकते हैं।

संख्याशिव प्रार्थना मंत्र लिस्ट
1ॐ नमः शिवाय
2ॐ प्रधानाय नम:
3ॐ सर्वात्मने नम:
4ॐ ज्ञानभूताय नम:
5ॐ त्रिनेत्राय नम:
6ॐ अनंतधर्माय नम:
7ॐ हराय नम:
8ॐ इन्द्रमुखाय नम:
9ॐ श्रीकंठाय नम:
10ॐ व्योमात्मने नम:
11ॐ वामदेवाय नम:
12ॐ ईशानाय नम:
13ॐ तत्पुरुषाय नम:
14ॐ अनंतवैराग्यसिंघाय नम:
15ॐ युक्तकेशात्मरूपाय नम:

15 शिव प्रार्थना मंत्र का हिंदी अर्थ (Hindi Meaning of Shiva Mantra)

यहां हमने भगवान शिव की प्रार्थना के सभी मंत्रों का हिंदी अर्थ बताया है, ये मंत्र भगवान शिव के विभिन्न नामों के जप को संक्षेप में दर्शाते हैं। इनका हिंदी अर्थ निम्नलिखित है:


शिव प्रार्थना मंत्रमंत्रों का हिंदी अर्थ
ॐ नमः शिवायनमन करता हूँ भगवान शिव को।
ॐ प्रधानाय नम:नमन करता हूँ उत्कृष्ट शक्तियों वाले को।
ॐ सर्वात्मने नम:नमन करता हूँ सबके आत्मा में विराजमान को।
ॐ ज्ञानभूताय नम:नमन करता हूँ ज्ञान के स्वरूप को।
ॐ त्रिनेत्राय नम:नमन करता हूँ तीन नेत्रों वाले को।
ॐ अनंतधर्माय नम:नमन करता हूँ अनंत धर्म के स्वरूप को।
ॐ हराय नम:नमन करता हूँ सभी हरनेवाले को।
ॐ अनंतवैराग्यसिंघाय नम:नमन करता हूँ अनंत वैराग्य सिंघारे वाले को।
ॐ इन्द्रमुखाय नम:नमन करता हूँ इंद्र के चेहरे वाले को।
ॐ श्रीकंठाय नम:नमन करता हूँ श्रीकंठ को।
ॐ व्योमात्मने नम:नमन करता हूँ आकाश रूपी आत्मा को।
ॐ वामदेवाय नम:नमन करता हूँ वामदेव को।
ॐ ईशानाय नम:नमन करता हूँ ईशान को।
ॐ युक्तकेशात्मरूपाय नम:नमन करता हूँ युक्त केशों और आत्मा के स्वरूप को।
ॐ तत्पुरुषाय नम:नमन करता हूँ तत्पुरुष को।

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए मंत्र

Shiv Mantra Meaning in Hindi: दोस्तों अभी हमने आपको शिव जी के प्रार्थना मंत्र की सूची बताई है पर अब हम जानेंगे शिव जी के ओ मंत्र जिनका जप करके आप भगवान शिव को प्रसन्न कर सकते हैं और वह सभी मंत्र निम्नलिखित है।

#1: ॐ नमः शिवाय

यह मंत्र शिव को अर्चना करने के लिए प्रयोग किया जाता है, इसका जाप करने से हम शिव के दिव्य सानिध्य को प्राप्त करते हैं।

#2: महामृत्युंजय मंत्र

“ॐ त्रयम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥”

यह मंत्र मृत्यु पर विजय पाने के लिए होता है, इस मंत्र के उपयोग से आप अपने ऊपर आने वाली सभी बाधाओं को दूर कर सकते हैं और अपने जीवन को सुरक्षित कर सकते है।

#3: शिव पंचाक्षरी मंत्र

“ॐ नमः शिवाय”

इस मंत्र का जाप करने से मन की शुद्धि होती है और भगवान शिव हमारे साथ सदा रहते हैं।

#4: शिव ध्यान मंत्र

“मंदाकिनी सलिल चन्दन चर्चिताय नंदीश्वर प्रमथनाथ महेश्वराय। 
मंदर पुष्प बहुपुष्प सुपूजिताय तस्मै मकाराय नमः शिवाय॥”

इस मंत्र के जाप से हम शिव के ध्यान में रहते हैं और उनके आशीर्वाद से हमारा जीवन सुखमय बनता है।

#5: अर्द्धनारीश्वर मंत्र

ॐ हर हर महादेव

इस मंत्र का जाप करने से दिमाग शांत होता है, और महादेव हमारे सभी दुख और कष्टों को हर लेते हैं।

यहां बताएं सभी मंत्र शिव की आराधना में उपयोगी हैं और भक्तों को उनके अर्थ और महत्व को समझाते हैं, इन मंत्रों का नियमित जाप करने से हमारा जीवन शांति, समृद्धि, और सुख-शांति से भर जाता है।

शिव मंत्रों के उपयोग और लाभ

#1: यदि आपको शांति और मानसिक स्थिरता की आवश्यकता है, तो नियमित रूप से “ॐ नमः शिवाय” जाप करना मानसिक शांति को प्रदान करता है।

#2: “महामृत्युंजय मंत्र” का जाप रोग निवारण में सहायक होता है और आपको दीर्घायु की प्राप्ति करने में मदद करता है।

#3: “शिव पंचाक्षरी मंत्र” का जाप आत्मशुद्धि और साधना में मदद करता है, इसके द्वारा आप अध्यात्मिकता की ऊंचाइयों तक पहुंच सकते हैं।

#4: “शिव ध्यान मंत्र” के जाप से आप शिव के ध्यान में लगकर उनके प्रति भक्ति भाव को विकसित कर सकते हैं।

#5: “अर्धनारीश्वर मंत्र” का जाप सांसारिक समस्याओं का समाधान करता है और जीवन को सुखी बनाने में मदद करता है।

यदि आप शिव मंत्रों का जाप करने में रुचि रखते हैं, तो रोज़ाना समय निकालकर इन मंत्रों का जाप करने का प्रयास करें और मन और आत्मा को शुद्ध रखें, शिव की कृपा से आपका जीवन सफलता और समृद्धि से भर जाएगा।

ध्यान में रखें कि मंत्रों का जाप निरंतरता से होना चाहिए और इनका उच्चारण सावधानी से किया जाना चाहिए, इन मंत्रों का उच्चारण आपके मानसिक और आध्यात्मिक संवाद को संवारता है और आपको शिव के आशीर्वाद से युक्त बनाता है।

भगवान शिव की आराधना के लिए कुछ अन्य उपाय

शिवलिंग पूजा: शिवलिंग की पूजा करने से शिव आपके साथ विराजमान होते हैं और आपको उनके आशीर्वाद से युक्त होने में मदद करते हैं।

श्रावण सोमवार व्रत: श्रावण मास के सोमवार को शिव व्रत करना भगवान शिव को अत्यंत प्रिय होता है। इस दिन आप शिव मंत्रों का जाप करें और पूजा-अर्चना करें।

महाशिवरात्रि की पूजा: महाशिवरात्रि भगवान शिव के अधिक प्रिय और महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। इस दिन आप सभी शिव मंत्रों का जाप, विधिवत पूजा और अर्चना करके भगवान शिव के आशीर्वाद को प्राप्त कर सकते हैं।

शिव चालीसा और स्तोत्र: शिव चालीसा और स्तोत्रों का पाठ करने से आप भगवान शिव की प्रीति प्राप्त कर सकते हैं और उनके आशीर्वाद से जीवन को समृद्ध, सुखी और शांति से भर सकते हैं।

शिवरात्रि के दिन व्रती रहें: शिवरात्रि के दिन आप संध्या काल से शुरू होकर रात्रि के समय तक भगवान शिव की पूजा करें और उनकी भक्ति में लगे रहें।

शिव मंत्रों और शिव की आराधना के द्वारा हम अपने जीवन को संतुष्ट, समृद्ध, और ध्यानयुक्त बना सकते हैं, भगवान शिव की कृपा से हम सभी दुखों से मुक्त होते हैं और सफलता के मार्ग पर अग्रसर रहते हैं। इसलिए, नियमित रूप से शिव मंत्रों का जाप और उनकी भक्ति में रहकर हम अपने जीवन को सफल बना सकते हैं।

People also ask: आपके पूछे गए सवाल

Q : शिव मंत्रों का जाप कैसे करें?

Ans: शिव मंत्रों का जाप करने के लिए ध्यान रखें कि आप एक शांत और शुद्ध स्थान पर बैठे, फिर माला के साथ “ॐ नमः शिवाय” या किसी अन्य मंत्र का जाप करें, ध्यान और भक्ति के साथ इन मंत्रों का जाप करने से आप शिव के आशीर्वाद को प्राप्त कर सकते हैं।

Q : महामृत्युंजय मंत्र का उपयोग क्या है?

Ans: “महामृत्युंजय मंत्र” रोग निवारण में सहायक होता है और आपको दीर्घायु की प्राप्ति करने में मदद करता है, इस मंत्र का नियमित जाप करने से आपको रोगों से बचाने में सहायता मिलती है और आपका जीवन स्वस्थ रहता है।

Q : शिव चालीसा और स्तोत्र क्या हैं?

Ans: शिव चालीसा और स्तोत्र भगवान शिव की स्तुति करने के लिए गाया जाने वाला गीत और स्तोत्र है, इनमें भगवान शिव के गुणों, महत्व, और महात्म्य का वर्णन किया गया है, शिव चालीसा और स्तोत्र का पाठ करने से आप भगवान शिव की प्रीति प्राप्त कर सकते हैं और उनके आशीर्वाद से जीवन को समृद्ध, सुखी और शांति से भर सकते हैं।

Q : शिव जी का प्रिय मंत्र क्या है?

Ans: शिव जी का सबसे प्रिय मंत्र “ॐ नमः शिवाय और ॐ हर हर महादेव” है।

Q : भोले बाबा का मूल मंत्र क्या है?

Ans: भोले बाबा अर्थात शिव जी को प्रसन्न करने का मूलमंत्र “ॐ नमः शिवाय” है।

Q: शिवलिंग पर जल चढ़ाते समय कौन सा मंत्र बोलना चाहिए?

Ans: “स्नानीयं जलं समर्पयामि” या “ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय”।

Q : शिव का पंचाक्षरी मंत्र कौन सा है?

Ans: शिव का पंचाक्षरी मंत्र “ॐ नमः शिवाय” है।

google News

नमस्कार दोस्तों ! मेरा नाम Lakhan Panchal है और मैं इस Blog का Founder हूं, harsawal.com वेबसाइट पर आप mobile review, apps review, mobile games, earn money, apps download, Youtube, Meaning, Cricket, GK, Cryptocurrency, Share Market, Loan, social media से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Comment