Tabla in english: तबला को इंग्लिश में क्या कहते हैं?


आज की पोस्ट में हम आपको Tabla ko english mein kya kahate hain, tabla in english, tabla ke bol, tabla ka itihas के बारे में संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं।

यदि आप भी संगीत के शौकीन हैं या तबला बजाने का शौक रखते हैं और उससे जुड़ी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Tabla ko english mein kya kahate hain

Tabla ko english mein kya kahate hain | Tabla in english

अगर बात करें कि tabla ko english mein kya kehte hai या अंग्रेजी भाषा में तबले को क्या कहते हैं तो हम आपको बता दें तबले को इंग्लिश में “tabor” कहते हैं और हिंदी भाषा में “तबला, ढोलक, तम्बूरा, मृदंग, वाद्ययंत्र” कहते हैं।

Tabla in englishTabor, drum
Tabla in hindiतबला, ढोलक, तम्बूरा, मृदंग, वाद्ययंत्र

तबले को किन-किन नामों से जाना जाता है?

तबला को संस्कृत में क्या कहते हैं?मुरजः
तबला को बंगाली में क्या कहते हैं?তবলা
Tabor को हिंदी में क्या कहते हैं?तबला
तबला को उर्दू में क्या कहते हैं?طبلہ
तबला को हिंदी में क्या कहते हैं?तबला, वाद्ययंत्र
तबला को मराठी में क्या कहते हैं?त्यांना, तबला

तबले का इतिहास | History of tabla

तबला मुख्य रूप से दक्षिण एशियाई देशों में काफी ज्यादा प्रचलित है, यह भारतीय संगीत में इस्तेमाल होने वाला तालवाद्य है। तबले को दो भाग में विभाजित किया गया है, बायां तबला अथवा दायां तबला,
तबला बनाने में तांबा और पीतल का इस्तेमाल होता है साथ ही इसके ऊपर चमड़े का आवरण चढ़ा होता है, इसमें चमड़े से मढे हुए मुख पर 3 भाग होते हैं।

  • चाटी किनारा,
  • मैदान लव
  • बीच की स्याही

दाहिना तबला जिसे दायां कहा जाता है। इसमें भी लकड़ी के आवरण चढ़े होते हैं और यह शीशम की लकड़ी का बना होता है। तबले की थाप, नृत्य व संगीत में ताल देने के काम आती है,

आपको बता दें तबले के अविष्कार से पहले संगीत के लिए पखावज व मृदंग का इस्तेमाल किया जाता था। 18 वीं सदी के बाद से तबले का इस्तेमाल शास्त्रीय एवं उप शास्त्रीय गायन-वादन में अनिवार्य रूप से होने लगा था, इसके साथ ही सुगम संगीत और हिंदी सिनेमा में भी तबले का इस्तेमाल मुख्य रूप से हुआ है।

तबला की उत्पत्ति | तबले की खोज कब हुई

तबला शब्द की उत्पत्ति अरबी-फ़ारसी मूल के शब्द “तब्ल” से हुई है, हालांकि इसकी उत्पत्ति को लेकर कई उपस्थापनायें मौजूद हैं। तबले की उत्पत्ति के बारे में वर्णित विचारों को दो समूहों में बाँटा जा सकता है।
तुर्क-अरब उत्पत्ति
भारतीय उत्पत्ति

तबला के बोल | Tabla in Hindi

तबले के बोलो को अक्षर शब्द या वर्ण भी कहते हैं, यह बोल अलग-अलग घरानों व भिन्न-भिन्न वादकों द्वारा सीखें और सिखाए जाते हैं इसीलिए हमें अलग-अलग जगह पर तबला के बोलो पर अंतर देखने को मिलता है, इसके साथ ही एक ही बोल को बजाने के कई तरीके भी प्रचलित है।


Tabla vadak: तबला वादक कौन कौन है

सबसे प्रसिद्ध तबला वादकों में पंजाब घराने के अल्ला रक्खा ख़ाँ और उनके पुत्र जाकिर हुसैन का नाम आता है, जाकिर हुसैन को मात्र 37 वर्ष की आयु में पदम भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था इसके बाद उन्हें अंतर्राष्ट्रीय ग्रैमी पुरस्कार भी मिला।

अगर बात करें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे प्रसिद्ध तबला वादक की तो चतुरलाल का नाम सामने आता है इनका उल्लेखनीय योगदान रहा है। इसके अलावा मुंबई के योगेश शम्सी, तन्मय बोस, त्रिलोक गुर्टू, फ़जल क़ुरैशी आदि के नाम उल्लेखनीय रहे हैं।

तबला कितने का आता है | Tabla price

तबला का वास्तविक दाम उसके अंग पर निर्भर करता है, क्योंकि तबला को बनाने के लिए किस धातु का या किस किस्म की लकड़ी का इस्तेमाल किया गया है इसके साथ ही उस पर चढ़े चमड़ा किस क्वालिटी का है इस पर भी निर्भर करता है।

इसी के आधार पर तबले का वास्तविक दाम फिक्स किया जाता है, अगर देखा जाए तो हाई क्वालिटी का तबला शीशम की लकड़ी या फिर तांबे का बना होता है लेकिन पीतल और तांबे से बने तबले की कीमत काफी ज्यादा होती है इसलिए लोग इसे कम ही खरीदते हैं। तबले की कीमत 3000 से लेकर 12000 तक है। हालांकि बाजार में इससे महंगे भी तबले मिलते हैं और वह क्वालिटी पर निर्भर करता है।

तबला के प्रमुख घराने कितने हैं

मुख्य रूप से तबला वादाक के छह घराने है

  • लखनऊ घराना
  • पंजाब घराना
  • बनारस घराना
  • दिल्ली घराना
  • फर्रुखाबाद घराना
  • अजराड़ा घराना

People also ask : आपकी पूछे गए प्रश्न

Q1: तबला कौन सा वाघ यंत्र है?

Ans: तबला एक ताल वाघ यंत्र है।

Q2: तबले की खोज कब हुई?

Ans: तबला की खोज 1738 ईस्वी में हुई।

Q3: तबला बजाने वाले को क्या कहते हैं?

Ans: तबला बजाने वाले को तबला वादक कहते हैं।

Q4: तबला में कुल कितने वर्ण होते हैं?

Ans: तबला में कुल 10 वर्ण होते हैं।

google News

नमस्कार दोस्तों ! मेरा नाम Lakhan Panchal है और मैं इस Blog का Founder हूं, harsawal.com वेबसाइट पर आप mobile review, apps review, mobile games, earn money, apps download, Youtube, Meaning, Cricket, GK, Cryptocurrency, Share Market, Loan, social media से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Comment