ताजमहल किसने बनवाया था? | ताजमहल का इतिहास


भारत के आगरा शहर में स्थित ताजमहल पूरे विश्व के सात अजूबों में से एक है जो कि प्यार का प्रतीक माना जाता है, हर वर्ष लाखों की संख्या में लोग इसे देखने के लिए पहुंचते हैं, ताजमहल देखने में काफी ज्यादा सुंदर है जिसे देख हर कोई उसकी ओर आकर्षित होता है।

पर क्या आपको पता है ताजमहल को किसने बनवाया था, ताजमहल को बनाने में कितने मजदूर लगे थे, और इसे बनने में कितना समय लगा था, ताजमहल का इतिहास क्या है। अगर आपको नहीं पता तो आप हमारा यह लेख पढ़ सकते हैं।

यहां आपको ताजमहल से जुड़े हर सवाल का जवाब दिया गया है, यहां आपको ताजमहल से जुड़ी हर संभव जानकारी विस्तारपूर्वक बताई गई है।

ताजमहल की सामान्य जानकारी

कहां स्थित हैआगरा- उत्तर प्रदेश (भारत)
ताजमहल किसकी याद में बना हैबेगम मुमताज
किसने बनवाया था मुगल सम्राट शाहजहां
निर्माण कार्य कब शुरू हुआसन् 1632
निर्माण कब खत्म हुआसन् 1653
निर्माण में कितना समय लगा21 वर्ष
ताजमहल किस रंग का हैसफेद
ताज महल के अंदर क्या हैशाहजहां और बेगम मुमताज की कब्र
ताजमहल का दूसरा नामतेजो महालया
ताज महल के कमरों की संख्या22

ताजमहल कहां स्थित है?

ताजमहल दुनिया के सात अजूबों में से एक है और यह भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में स्थित है, और यह आगरा शहर के दक्षिण तट पर बहने वाली यमुना नदी के किनारे बना हुआ है।

ताजमहल को कब और किसने बनवाया था? (Tajmahal kisne banwaya tha)

Tajmahal ka nirman kab hua: ताजमहल को मुगल सम्राट शाहजहां ने सन् 1632 में बनवाया था, शाहजहां अपनी बेगम मुमताज से काफी ज्यादा प्यार करते थे, और शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज की मृत्यु के बाद उनकी याद में दुनिया के सातवें अजूबे ताजमहल का निर्माण किया था, ताजमहल को बनाने में पूरे 21 साल का समय लगा था, इसका निर्माण 1632 में शुरू किया गया था जो कि 1653 में पूरा हुआ था।

ताजमहल का इतिहास | ताजमहल बनाने के पीछे की कहानी

दोस्तों हमारे प्राचीन ग्रंथों में लिखे अनुसार शाहजहां एक मुगल सम्राट थे और वह आगरा के बादशाह थे, शाहजहां की पत्नी का नाम मुमताज था वह अपनी पत्नी मुमताज से काफी ज्यादा प्रेम करते थे,

tajmahal ka chitra, photo
Tajmahal ka chitra, photo

और जब मुमताज शाहजहां के 14वें बच्चे को जन्म देने वाली थी, उस वक्त उन्हें काफी पीड़ा हुई थी और उन्होंने लगभग 30 घंटों से भी ज्यादा दर्द सहा था, उनका यह दर्द असहनीय था, जिसके चलते 17 जून 1631 की सुबह के समय बच्चे को जन्म देते वक्त मुमताज की मृत्यु हो गई थी। पर मृत्यु से पहले मुमताज ने शाहजहां से 2 वचन लिए थे,

  1. दूसरी शादी ना करने का वचन।
  2. मुमताज के लिए एक ऐसा मकबरा बनाना जिसे पूरी दुनिया याद रखें।

और शाहजहां ने अपने वचनों का पालन करते हुए दूसरी शादी नहीं की और बेगम मुमताज को दिए वचन को पूरा करने और उनके प्रेम को अमर करने के लिए शाहजहां ने ताजमहल बनाने का निर्णय लिया था, 


ताजमहल बनाने का काम सन् 1632 मैं शुरू किया गया था और ताजमहल का कार्य साल 1653 में खत्म हुआ था और इसे बनाने में पूरे 21 साल का समय लगा था।

ताजमहल बनने से पूर्व मुमताज का शव किसी दूसरी जगह दफनाया गया था पर जब ताजमहल का कार्य पूर्ण रूप से खत्म हो गया था, तो उसके पश्चात शाहजहां ने बेगम मुमताज के शव को ताजमहल के अंदर दफनाया था।

साथ ही ताजमहल बनाने में लगभग 20000 से भी ज्यादा कारीगर लगाए गए थे जो कि भारत के साथ साथ तुर्की और दूसरे अरब देशों से बुलाए गए थे, और हमारे प्राचीन ग्रंथों मैं लिखे अनुसार ताजमहल बनाने वाले कारीगर का नाम “उस्ताद अहमद लाहौरी” बताया गया है, 

साथ ही ताजमहल को लेकर एक चीज काफी ज्यादा मशहूर है कहा जाता है कि ताजमहल बनाने वाले सभी कारीगरों के हाथ शाहजहां ने कटवा दिए थे ताकि ताजमहल जैसा दूसरा मकबरा दुनिया में कोई और ना बनवा सके।

ताजमहल किस से बना है?

हाथी दांत से भी ज्यादा सफेद दिखने वाला, जिसे देख लोग उसकी ओर आकर्षित होते हैं उस ताजमहल को बनाने के लिए 20,000 से भी ज्यादा कारीगर लगाए गए थे और पूरा का पूरा ताजमहल संगेमरमर के पत्थरों से बनाया गया था, जो दिखने में सफेद रंग का है।

ताजमहल में मुमताज के साथ शाहजहां की कब्र भी दफन है?

मुगल सम्राट शाहजहां ने आगरा के ऊपर सन् 1628 से लेकर सन् 1658 तक शासन किया था, और इस शासनकाल में उनके द्वारा बनाया गया मकबरा जिसे हम ताजमहल कहते हैं, उसमें शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज की कब्र दफन की थी और जब शाहजहां की मृत्यु हो गई थी, तो उस पश्चात ताजमहल के अंदर मुमताज के पास ही शाहजहां की कब्र बनाई गई थी।

यानी कि दोस्तों ताज महल के अंदर शाहजहां और उनकी बेगम मुमताज की कब्र बनी हुई है।

ताज महल के अंदर क्या है?

ताज महल संगमरमर से बना सफेद रंग का एक मकबरा है जिसके अंदर शाहजहां और बेगम मुमताज की कब्र मौजूद है, साथ ही ताज महल के अंदर कुल 22 कमरे मौजूद है जिन्हें भारतीय सरकार द्वारा पूरी तरह से बंद रखा गया है।

ताजमहल विवाद क्या है? (Tajmahal Controversy)

  • ताज महल के अंदर एक बंद तहखाना है जिसे खुलवाने के लिए वर्ष 2004 में “इंस्टीट्यूट आफ रिराइटिंग इंडियन हिस्ट्री एंड” के द्वारा इलाहाबाद के हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी, पर उसे कोर्ट के द्वारा खारिज कर दिया गया था।
  • ताज महल के अंदर बने 22 कमरों को खोलने की मांग अक्सर भारतीय कोर्ट में उठती रहती है, कुछ लोग जानना चाहते हैं कि आखिर ताजमहल में बने इन 22 कमरों में क्या है।
  • ताजमहल को लेकर कुछ लोगों का दावा है कि ताजमहल बनने से पहले यहां एक शिव मंदिर हुआ करता था और शिव मंदिर को हटाकर यहां ताजमहल बनाया गया है।

People also ask: आपके पूछे गए सवाल

Q : ताजमहल किस नदी के किनारे बना हुआ है?

Ans: ताजमहल उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर के दक्षिण तट पर बहने वाली यमुना नदी के किनारे बना हुआ है।

Q : ताजमहल का पूरा नाम क्या है?

Ans: ताजमहल को “तेजो महालया” के नाम से भी जाना जाता है।

Q : ताजमहल को बनाने में कितने मजदूर लगे थे?

Ans: ताजमहल को बनाने में लगभग 20000 मजदूर लगाए गए थे और साथ ही ताजमहल को बनाने में 1000 से भी ज्यादा हाथियों को काम में लिया गया था।

Q : Tajmahal ka vastukar कोन है?

Ans: ताजमहल के प्रमुख वास्तुकार “उस्ताद अहमद लाहौरी” है।

Q : ताज महल क्या है?

Ans: ताजमहल एक मकबरा है जिसके अंदर मुगल सम्राट शाहजहां और उनकी बेगम मुमताज की कब्र बनी हुई है।

Q : ताज महल का निर्माण कब पूरा हुआ था?

Ans: ताजमहल का निर्माण सन 1653 में पूरा हुआ था, और इसे बनने में पूरे 21 साल का समय लगा था।

Q : क्या ताजमहल को दुनिया के 7 अजूबों से हटा दिया गया है?

Ans: जी नहीं, ताजमहल अभी भी दुनिया के सात अजूबों में से एक है।

Q : ताजमहल क्या हिंदू मंदिर है?

Ans: जी नहीं, ताजमहल एक मकबरा है जिसके अंदर मुगल सम्राट शाहजहां और उनकी बेगम मुमताज की कब्र बनी हुई है।

Q : क्या ताजमहल में शिवलिंग है?

Ans: कुछ लोगों का मानना है कि ताजमहल बनने से पहले वहां एक भगवान शिव का मंदिर हुआ करता था और ताजमहल की जगह पहले एक शिवलिंग बना हुआ था, पर इसे अभी तक प्रमाणित नहीं किया गया है, जिसे हम सच या झूठ नहीं बता सकते हैं।

Q : ताजमहल की एंट्री फीस कितनी है?

Ans: ताजमहल को देखने के लिए इसका प्रवेश शुल्क ₹50 रखा गया है, पर यदि आप ताज महल के अंदर बने मकबरे को देखना चाहते हैं तो आपको इसके लिए ₹200 अतिरिक्त देने होते हैं।

Q : ताजमहल कौन से दिन बंद रहता है?

Ans: ताजमहल सप्ताह के हर शुक्रवार के दिन बंद रहता है।

google News

नमस्कार दोस्तों ! मेरा नाम Lakhan Panchal है और मैं इस Blog का Founder हूं, harsawal.com वेबसाइट पर आप mobile review, apps review, mobile games, earn money, apps download, Youtube, Meaning, Cricket, GK, Cryptocurrency, Share Market, Loan, social media से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Comment